eSim क्या है और कैसे काम करता है ? | What is eSim in Hindi and how does it work?

मित्रों, पहले के समय में सिम कार्ड काफी बड़ा हुआ करता था | उसके बाद आया Mini Sim Card इस mini sim card को पहले वाले को काटकर बनाया गया था जिन लोगों के पास पुराने फोन थे उन्हें इस मिनी सिम कार्ड के लिए कुछ ज्यादा ही मेहनत मशक्कत करनी पड़ती थी | फिर मिनी micro बन गया और फिर यह micro sim यह nano sim बन गया |

 यह सबसे पहले सिम के मुकाबले यह नैनो सिम काफी छोटा बन गया | अब इस नैनो सिम को इससे छोटा नहीं किया जा सकता है  लेकिन इसे गायब किया जा सकता है वह भी eSim की  मदद से | मित्रों अब इस आर्टिकल में हम आपको eSim के बारे में बताएंगे कि eSim क्या है, कैसे काम करता है और इसके फायदे और नुकसान क्या हैं ?


eSim क्या है  | What is eSim in Hindi ?

दोस्तों, अब हम सबसे पहले जानेंगे कि eSim क्या होता है ?

दोस्तों, अभी क्या होता है कि अगर आपको कोई सिम लेना हो तो फिर आप अपनी आईडी लेकर जिस कंपनी की सिम लेनी है उसी के स्टोर पर चले जाते हैं |

 वहां पर आपको एक फिजिकल सिम दी जाती थी जिसे आप टच कर पाते हैं और अपने Smartphone में वह फिजिकल सिम आप लगा भी सकते हैं और निकाल भी सकते हैं |



What is eSim in Hindi, eSim activate
What is eSim in Hindi ?



दोस्तों यह तो रही फिजिकल सिम की बात, अब बात आती है eSim की | eSim की फुल फॉर्म है embedded subscribers identity module या फिर एंबेडेड यूनिवर्सल इंटीग्रेटेड सर्किट कार्ड जिसे हम EUICC भी कहते हैं |

 अब दोस्तों बात यह है कि आजकल जो भी प्रीमियम Smartphone आ रहे हैं उनमें पहले से ही एक इंटीग्रेटेड चिप लगी होती है जो कि rewritable होती है | eSim को चालू करने के लिए आप एक आईडी कार्ड और अपने डॉक्यूमेंट ले कर जाएंगे स्टोर पर और फिर अपने फोन पर उस सिम नेटवर्क को एक्टिवेट कर पाएंगे | 

Rewritable का मतलब है कि आप कभी भी एयरटेल पर जा सकते हैं, VI पर जा सकते हैं और कोई कंपनी आएगी तो उस पर जा सकते हैं | कहने का मतलब है आप जिस भी कंपनी के इंटरनेट सर्विस लेना चाहेंगे तो फिर आप अपने डाक्यूमेंट्स लेकर सर्विस ले सकते हैं | इस सिम से यह होगा कि आपको अलग से कोई भी सिम लगाने की जरूरत नहीं होगी फोन पर पहले से ही  इंटीग्रेटेड सिम चिप लगी होगी और यह एक सॉफ्टवेयर के माध्यम से अपडेट हो जाया करेगा |

जब भी आप स्टोर में जाएंगे तो एक qr-code के जरिए आपकी सिम चालू हो जाएगी | आप जिस भी कंपनी के क्यूआर कोड को स्कैन कर लेंगे फिर उस कंपनी के नेटवर्क आपके Smartphone में आ जाएंगे |

अगर सरल भाषा में कहें दोस्तों तो यही कहना चाहूंगा कि अब आपको यह फिजिकल सिम की जरूरत नहीं है | आपके फोन में अब पहले से ही इनबिल्ट सिम आ रही है जो उसमें पहले से ही लगी होगी अब तो आप समझ चुके होंगे कि eSim क्या होती है |

आसान शब्दों में कहें तो eSim एक डिजिटल या वर्चुअल सिम है |


eSim कैसे काम करती है और कैसे activate करें  ? | How eSim works and how to activate ?

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि कैसे eSim आपके फ़ोन में काम करेगी ?
दोस्तों अगर आपने यह eSim लेने का मन बना लिया है सबसे पहले आपको यह देखना पड़ेगा कि आपका  स्मार्टफोन eSim को सपोर्ट करता है या नहीं | क्योंकि अभी केवल कुछ Flagship phone में ही यह eSim सपोर्ट कर रही है तो सबसे पहले आपको यह चेक करना होगा कि आपके Smartphone में eSim सपोर्ट कर रही है या नहीं |

अगर आपने यह चेक कर लिया है कि आपके Smartphone में eSim सपोर्ट कर रही है या नहीं अगर कर रही है तो फिर आपको यह करना पड़ेगा |

अब आपको यह जानना पड़ेगा कि इंडिया में कौन-कौन से टेलीकॉम ऑपरेटर eSim प्रोवाइड करते हैं | भारत में जिओ. एयरटेल VI ही वह कंपनियां हैं जो Esim की सर्विस प्रोवाइड कर रही हैं |

 सबसे पहले बात करते हैं जिओ की, अगर आप जियो का eSim लेना चाहते हैं उसे इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपको अपनी फोटो और आईडी प्रूफ के साथ अपनी नजदीकी जिओ स्टोर या रिलायंस स्टोर में जाना होगा और वहां पर जाकर आपको अपने केवाईसी प्रोसेस को पूरा करना होगा जिसके बाद आपका यह eSim एक्टिवेट हो जाएगा |

 वहीं अगर आप एयरटेल का eSim एक्टिवेट कराना चाहते हैं तो फिर बता देता हूँ कि फिलहाल एयरटेल आपके फिजिकल सिम को ही eSim में कन्वर्ट कर रहा है | अपनी फिजिकल सिम को Esim में कन्वर्ट करने के लिए आपको एक एसएमएस करना होगा s.m.s. में आपको लिखना होगा | Esim <स्पेस> email id फिर १२१ पर भेज दीजिये | जब आप यह कर देंगे उसके बाद आपको एक कन्फर्मेशन मैसेज या कॉल रिसीव होगी |

 वह सब करने के बाद आपकी ईमेल आईडी पर एक qr-code आ जाएगा जिसको अपने mobile से स्कैन करने के बाद आप अपने फोन में eSim को एक्टिवेट कर सकते हैं |

Iphone पर QRcode स्कैन करने के लिए आपको अपने Iphone की सेटिंग में जाना होगा उसके बाद आपको मोबाइल डाटा में जाना होगा उसके बाद आपको एड डाटा प्लान पर क्लिक करना होगा फिर आपके पास एक qr-code scanner आ जाएगा | जैसे ही आप उसके बार कोड को स्कैन करते हैं फिर आपका eSim एक्टिवेट हो जाएगा |



 इसी प्रकार आप एंड्रॉयड के नेटवर्क और डाटा सेटिंग में जाकर आप वहां से क्यूआर कोड को स्कैन करके आपकी esim को एक्टिवेट कर पाएंगे |

अब बात करते हैं vodafone-idea यानी कि Vi  | इसके लिए आपको पोस्टपेड यूजर होना जरूरी है अभी फिलहाल प्रीपेड के लिए यह सर्विस अवेलेबल नहीं है | अभी Vi कुछ ही सिटीज में अपनी esim सेरिस दे रहा है और Vi की eSim सिम एक्टिवेट करने के लिए आपको जिओ की तरह ही इसके स्टोर पर जाना होगा और केवाईसी प्रोसेस को पूरा करना होगा और फिर esim  एक्टिवेट करा पाएंगे |

eSim के फायदे  | Advantages of eSim

  •  esim की वजह से अब सिम ट्रे की कोई जरुरत नहीं है |
  • यह काफी सुरक्षित है |
  • Esim को आप ज्यादा डिवाइस के साथ कनेक्ट कर सकते हैं  |
  • इसमें ऑपरेटर को बहुत आसानी से बदल सकते हैं |
  • यह Travellers के लिए बहुत उपयोगी है ?
आशा करता हूँ  दोस्तों कि आपको हमारा आज का आर्टिकल " What is esim in Hindi ?  " पसंद आया |
अगर आपके मन में इस आर्टिकल से जुड़ा कोई सवाल या फिर कोई सुझाव है तो आप हमें कमेंट करके या फिर हमें मेल करके बता सकते हैं |